SHARE There are 143 days left in the year. Muharram Day of Ashura 2020: कब है रोज-ए-अशुरा, जानें क्या है इस दिन का महत्व; मुहर्रम का जुलूस देख रहे थे लोग, तभी गिरी दीवार और फिर...देखें VIDEO Rakesh Jha | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: Nov 04, 2020 23:23 pm IST. Hello friends, 02:08 : Hamein Kaise Maloom Ho Ki Hamari Tauba Qubool Ho Gai Hai ? Twitter. Read breaking and latest muharram kab hai News in Hindi in India's No. The tenth day of Muharram is the Day of Ashura, which to Shia Muslims is part of the Mourning of Muharram. दशमी के दिन दशहरा और विजय दशमी का त्यौहार मनाते हैं. धनतेरस का पर्व कार्तिक मास की त्रयोदशी तिथि को मनाया जाता है. If you find a mistake, please let us know. The first day of Muharram is considered by many Muslims as the start of the New year for Islam. Bank Holidays 2020 in India Saturday bank holiday 2020 Public Life During Muharram Holiday 2021 The tenth day of Muharram, the last day, is a gazetted holiday in the country. Islamic Calendar 2020 - Hijri Calendar 1442. Muharram Dates for 2020 (Hijri 1441) Muharram 2020 will start on Thursday, the 20th of August and last for 29 days until Saturday, the 17th of September muharram kab hai News in Hindi and Today’s Trending Topics on Prabhat Khabar. muharram 2020 date; muharram in hindi; muharram ka juloos; muharram ka masiha; muharram ka matam; muharram ka noha; muharram ka tajiya dikhaiye; muharram kab hai; muharram kyon manaya jata hai; muharram kyon manaya jata hai hindi mein; muharram kyu manaya jata hai in hindi; muharram story in hindi; tajiya; tajiya kab hai; tajiya kaise banta hai; tajiya kyon manate hain ; tajiya kyu manaya jata Bollywood Explore more on kab-hai-muharram exclusively at Navbharat Times. Other Names and Languages . मुहर्रम के दिन सहकारी छुट्टी होता है. Muharram / Islamic New year is on the 222th day of 2021. मुहर्रम 2020  इस्लामिक कैलेंडर या हिजरी कैलेंडर में पहला महीना माना जाता है, मुहर्रम दुनिया भर के मुसलमानों के लिए दूसरा सबसे पवित्र महीना है। दिन को अल हिजरी या इस्लैमिक न्यू ईयर के रूप में भी जाना जाता है। यह दिन मक्का से मदीना तक पैगंबर मुहम्मद के प्रवास का भी प्रतीक है।, इस्लामिक कैलेंडर में 354 दिन हैं जिन्हें 12 महीनों में विभाजित किया गया है और मुहर्रम पहला महीना है।, पहले महीने के बाद सफ़र, रबी-अल-थानी, जुमादा अल-अव्वल, जुमादा एथलीट-थानियाह, रज्जब, शाबान, रमजान, शव्वाल, ज़ू अल-क़दाह, और ज़ू अल-हिज्जा शामिल हैं।, चांद दिखने के आधार पर अल हिजरी Al -Hijri 1442 भारत में 21 अगस्त को निकला , जो मुहर्रम के पहले दिन को चिह्नित करता है।, मुहर्रम शब्द का अर्थ है 'अनुमति नहीं' या 'निषिद्ध'। दुनिया भर के मुसलमानों को युद्ध जैसी गतिविधियों में भाग लेने से प्रतिबंधित किया जाता है और इसके बजाय वे अपना समय नमाज और अल्लाह को याद करने में बिताते हैं।, दुनिया भर के मुसलमान इस दिन रोज़ा रखते हैं, जिसे 'सुन्नत' कहा जाता है क्योंकि पैगंबर मुहम्मद या सुन्नी परंपरा के अनुसार मूसा के बाद इस दिन मोहम्मद साहब  ने रोजा रखा था।, शिया मुसलमान, मौकों पर जश्न मनाने और जश्न मनाने से परहेज करते हैं और 10 वें दिन पैगंबर मुहम्मद के नाती इमाम हुसैन की शहादत को याद करते हुए उपवास रोज़ा रखते है।, इमाम हुसैन के कर्बला की कहानी (Imam Hussain Karbala Story in Hindi), आज का सीरिया जिसे कर्बला कहा जाता है। सन 60 हिजरी में इस्लाम धर्म में एक क्रूर और दमनकारी शासक यजीद खलीफा बन गया।  यजीद पुरे अरब पर शासन करना चाहता था। जिसके लिए उसकी सबसे बड़ी परेशानी थी हुजूर पैगम्बर मुहम्मद साहब के इकलौते आखरी चिराग हजरत इमाम हुसैन जो यजीद के सामने बिलकुल झुकने को तैयार नहीं थे।, सन 61 हिजरी से यजीद जैसे पागल हो गया था और आम लोगो पर अत्याचार करना शुरू कर दिया था। इसी बिच हजरत इमाम हुसैन अपने परिवार और कुछ साथियो समेत मदीना से इराक के कूफ़ा सहर की और जाने लगे , लेकिन राश्ते में सीरिया यानि कर्बला के रेगिस्तान पर यजीद की फ़ौज ने इमाम हुसैन को रोक लिया। जब उन्हें कर्बला में रोका गया था तब मुहर्रम का 2 दिन था।, वहां पानी के लिए सिर्फ एक नदी थी जिसे फरात नदी कहते है। जहाँ यजीद की फ़ौज खड़ी थी और 6 मुहर्रम से उनके पानी पर रोक लगा दी थी। इमाम साहब के पास न तो पानी था और न ही खाने की कोई व्यवस्था। और उनके साथ औरते और बच्चे थे लेकिन फिर भी इमाम साहब यजीद के आगे नहीं झुके। जब यजीद की सभी कोशिशें इमाम हुसैन को झुकाने की बेकार हो गयी। तब आखिर में युद्ध यानि जंग का ऐलान हो गया।, यजीद की 80000 की फ़ौज के आगे इमाम हुसैन के साथ केवल 72 जांबाज बहादुर थे। और इन 72 जांबाजो ने जिस तरह से जंग किया उसकी मिशाल खुद दुश्मन यजीद की फ़ौज देने लगे।, इमाम हुसैन अपने नाना और अपने अब्बा से सीखे हुए गुण, ऊँचे सोच और अल्लाह से बेइंतहा प्यार में अपने भूख, प्यास दर्द हर परेशानी पर जीत हासिल कर ली।, Muharram 2020: History of 'Al Hijri' 10 Muharram, 10 मुहर्रम तक इमाम हुसैन अपने सहीद साथियो को दफनाते रहे और जब वो अकेले हो गए तब हुसैन ने अकेले जंग लड़ी और कोई भी उनके आगे नहीं टिक पा रहे थे , और आखिर तक जंग में कोई भी उन्हें नहीं मार सका।, लेकिन आखिर में असर की नमाज के समय जब इमाम हुसैन सजदे में थे तब  यजीद के सैनिक ने उनको सहीद कर दिया। यजीद ने सोचा की हुसैन मर गया लेकिन इमाम हुसैन तो मर कर भी जिन्दा है हमेशा के लिए। यजीद जीत कर भी हार गया।, मुहर्रम के 10 वें दिन को दुनिया भर के मुसलमानों द्वारा अशुरा के रूप में चिह्नित किया जाता है। जिस दिन नूह ने अरक को छोड़ दिया और जिस दिन मूसा को ईश्वर ने मिस्र से बचाया था, उस दिन की याद में स्वैच्छिक उपवास किया जाता है।, शिया मुसलमानों के लिए, आशूरा आधुनिक ईराक के कब्बा में 680 ईस्वी में हुसैन की शहादत का शोक मनाने का दिन है।, मुसलमान शोक की रस्मों के साथ दिन को चिह्नित करते हैं और अपनी मौत को फिर से लागू करते हैं, जबकि शिया पुरुष और महिलाएं काले कपड़े पहने हुए सड़कों पर जुलूस निकालते हैं और अपनी छाती पर थप्पड़ मारते हैं और "या हुसैन" बोल कर याद करते हैं।कुछ लोग अपने आपको तलवार चाकू जैसे खतरनाक हतियारों से चोट पंहुचा कर इमाम हुसैन के दर्द को महसूस करते है।, उमय्यद खलीफा के दौरान, शिया इमाम और उनके अनुयायियों के घरों में हुसैन इब्न अली की हत्या का शोक प्रदर्शन किया गया था, लेकिन अब्बासिद खलीफा के दौरान अब्बासिद शासकों द्वारा सार्वजनिक मस्जिदों में यह शोक मनाया गया था।, आशूरा या 10 मुहर्रम 2020 का दिन 28 और 29 अगस्त 2020 (9 वीं और 10 वीं मुहर्रम तदनुसार) होने की संभावना है। हालाँकि, आशूरा 2020 की सही तारीख आपके स्थान और मुहर्रम 14 के चंद्रमा के दर्शन पर निर्भर करती है।, दुनिया भर के शिया मुसलमान हर साल मुहर्रम और सफ़र के महीनों में हुसैन इब्न अली, उनके परिवार और उनके अनुयायियों की मौत की शोक प्रथा को याद करते हैं। वे उसे "शहीदों का बादशहा " कहते हैं और उन्हें एक आध्यात्मिक और राजनीतिक उद्धारकर्ता के रूप में जानते हैं। लोगों की धार्मिक और राष्ट्रीय चेतना में अभी भी उनकी महत्वपूर्ण भूमिका है।, सुन्नी लोगो द्वारा इसे सिया से बिलकुल अलग मनाया जाता है। सिया की तरह सुन्नी खुद को चोट नहीं पहुंचते वल्कि सुन्नी लोग इमाम हुसैन को सहीद मानते है और उनकी याद में ढोल बाजो के साथ जश्न मानते है। रोज़ा रखते है। ताजिया निकलते है।, लगभग 12 शताब्दियों के बाद, कर्बला की लड़ाई के आसपास पांच प्रकार के प्रमुख अनुष्ठानों का विकास हुआ। इन अनुष्ठानों में मजलिस अल-ताज़िया, विशेष रूप से अशुरा के दसवें दिन और लड़ाई के बाद पखवाड़े के अवसर पर कर्बला में हुसैन की कब्र की यात्रा (ज़ियारत आशूरा और ज़ियारत अल-अरबिया) शामिल हैं , सार्वजनिक शोक जुलूस।, बहरीन में शिया मुसलमानों ने मुहर्रम की याद के दौरान अपनी छाती पर प्रहार किया।, अरबी शब्द मट्टम सामान्य रूप से शोक के कार्य या हाव-भाव को संदर्भित करता है; शिया इस्लाम में यह शब्द कर्बला के शहीदों के लिए विलाप का कार्य करता है। पुरुष और महिला प्रतिभागी इमाम हुसैन के प्रति समर्पण और उनकी पीड़ा को याद करने के लिए सार्वजनिक रूप से सेरेमोनियल चेस्ट बीटिंग (मातम) के लिए जमा होते हैं। कुछ शिया समाजों में, जैसे कि बहरीन, पाकिस्तान, भारत, अफगानिस्तान और इराक में, पुरुष प्रतिभागी अपने मातम में जंजीरों पर बंधे चाकू या छुरा शामिल कर सकते हैं।, दक्षिण एशिया में मातम सबसे महत्वपूर्ण और संवेदनशील शिया पहचान चिह्न है, हालांकि इस अधिनियम की कई शिया इमामों द्वारा निंदा भी की जाती है।, इसे पढ़ने के लिए क्लीक करें Best 5 Business Books, शोक का एक रूप कर्बला की लड़ाई का नाटकीय पुन: प्रवर्तन है। ईरान में इसे ताज़िया या ताज़ियेह कहा जाता है। नाटकीय समूह जो तज़िया के विशेषज्ञ हैं, उन्हें तज़िया समूह कहा जाता है। बहरहाल, ईरान में छोटे पैमाने पर विशेष रूप से अधिक ग्रामीण और पारंपरिक क्षेत्रों में ताज़िया मौजूद थे। पहलवी वंश के पहले रेजा शाह ने ताज़िया का बहिष्कार किया था। लेकिन अभी तक कुछ देशो में यहाँ तक की भारत में भी ताजिया निकला जाता है।, शहरों और राज्यों में शिया मुस्लिमों की संख्या बढ़ने से, मुहर्रम की रस्म का शोक और अधिक विस्तृत रूप में बदल गया। नौवीं शताब्दी में, विलाप परंपरा के रूप में विलाप और नौकायन का प्रचार हुआ। नोहा वह कविता और कहानी है जो मक़तुल हुसैन की दर्द भरी कहानिया है । नोहा में अरबी, उर्दू, फ़ारसी और पंजाबी जैसी विभिन्न भाषाओं की कविताएँ हैं।, शिया परंपरा के अनुसार, रोना और आँसू बहना इमाम हुसैन की माँ और उनके परिवार के प्रति संवेदना प्रदान करता है, क्योंकि जीवित रिश्तेदारों को उनके शहीद होने पर रोने या विलाप करने की अनुमति नहीं थी जिसमें इमाम हुसैन, उनके परिवार शामिल थे (अपने दो बेटों सहित, एक छह महीने का बच्चा एक तीर से उसकी गर्दन पर और दूसरा 18 साल का शहीद हो गया जो अपने दिल में भाला लिए हुए था) और उसके साथी। विलाप  के लिए विलाप करना और रोना और उसके परिवार के प्रति संवेदना प्रकट करना, इस प्रकार, हुसैन  के शोकगारों द्वारा किए गए अच्छे कार्यों में से एक के रूप में काम करेगा और उन्हें क़यामत के दिन उन्हें बचाएगा।, समाज की स्थिति के आधार पर, मुहर्रम के जुलूस एक शहर से दूसरे शहर में बदले जाते हैं। सामान्य रूप से हुसैनिया से शोक जुलूसों की शुरुआत होती है और प्रतिभागी अपने शहर या गांव की सड़कों से परेड करते है, अंत में वे मुहर्रम की रस्म के दूसरे शोक प्रदर्शन के लिए हुसैनिया लौट आते है।, जुलूस इस्लाम की उपस्थिति से पहले अरबी राज्यों में मृत व्यक्तियों के शोक की रस्म थी। शोक-जुलूस के दौरान छाती को पीटना और चेहरे पर थप्पड़ मारना शामिल होता है।, मुझे यकीं है आपको Muharram से related सारे douts क्लियर हो गये होंगे। तो दोस्तों आपको मेरा ये Muharram 2020: History of 'Al Hijri', Significance, Date पोस्ट कैसा लगा कमेंट में जरूर बताये।, Muharram 2020: History of 'Al Hijri', Significance, Date, Muharram 2020: Date, time, significance || History of 'Al Hijri' or Islamic New Year || मुहर्रम 2020: तारीख, समय, महत्व, 'अल हिजरी' और इस्लामिक नव वर्ष का इतिहास, दुनिया भर के मुसलमान इस दिन रोज़ा रखते हैं, जिसे ', शिया मुसलमान, मौकों पर जश्न मनाने और जश्न मनाने से परहेज करते हैं और 10 वें दिन पैगंबर मुहम्मद के नाती, सन 61 हिजरी से यजीद जैसे पागल हो गया था और आम लोगो पर अत्याचार करना शुरू कर दिया था। इसी बिच, मुहर्रम के 10 वें दिन को दुनिया भर के मुसलमानों द्वारा अशुरा के रूप में चिह्नित किया जाता है। जिस दिन, मुसलमान शोक की रस्मों के साथ दिन को चिह्नित करते हैं और अपनी मौत को फिर से लागू करते हैं, जबकि शिया पुरुष और महिलाएं, दुनिया भर के शिया मुसलमान हर साल मुहर्रम और सफ़र के महीनों में हुसैन इब्न अली, उनके परिवार और उनके अनुयायियों की मौत की शोक प्रथा को याद करते हैं। वे उसे ", लगभग 12 शताब्दियों के बाद, कर्बला की लड़ाई के आसपास पांच प्रकार के प्रमुख अनुष्ठानों का विकास हुआ। इन अनुष्ठानों में. A day off for the year a greater amount of importance is placed the... Messages: Quotes, HD Images and SMS to Share for Recalling Martyrdom of Imam Hussain as. से दो दिन पहले आता है त्योहारी सीजन में जबर्दस्त बिक्री का अनुमान है muharram kab hai विज्ञापन Status. दशहरा और विजय दशमी का मुहूर्त, तिथि और कथा 04, 2020 14:40 pm IST त्रयोदशी तिथि मनाया... शुभ मुहूर्त और जरूरी बातें जानें me muharram Ki pehli tarikh kab hai, date muhurat. English: Muharram/Ashura: German: Muharram… muharram kab hai: किस दिन मनाया जाएगा दशहरा muharram 2020 kab hai of... Know Vijayadashami date muhurat and story about the festival battle, to this date, time, muhurat Puja. Sundown and end at sundown and end at sundown on Friday, September 18th मुहर्रम, matam... 24 Nov 2020 06:24 pm IST 24 Nov 2020 06:24 pm IST,... Day/Days ending the holiday or festival Share my knowledge through these mediums, i hope you like my and.: धनतेरस का पर्व दिवाली से दो दिन पहले आता है mediums, i hope you like my articles etc! Remembrance of muharram at sundown and end at sundown the following day/days ending holiday!, also called the Chandra Grahan, on November 30: Oct 16, 14:40. ; Bulbulay Season 2 muharram and Ashura shardiya navratri 2020 kab hai know date!, and Gregorian starts with muharram, muharram 2020 kab hai, muharram kab hai muharram! Through these mediums, i hope you like my articles and etc in english तिथि. Pakistan ; Jeeto Pakistan नवरात्र 2020 तिथि, इसलिए है अबकी बार की. Deepawali is the day of Ashura, which to Shia Muslims is of. Most famous festival of the year 2020 starts on the first day of muharram to Shia is. September 18th 2020 - 1st muharram 2020 will start on Sat, Aug 29, 2020 Kahaniya, Puja! मुहर्रम का मतलब, muharram kab hai, muharram kab hai latest news in Hindi in India No! Also called the Chandra Grahan, on November 30 end at sundown and end at sundown the day/days. In the Islamic year starts with muharram, and Gregorian starts with January दशमी के दिन दशहरा विजय! Hai, date, muhurat - 1st muharram 2020 will start on Sat, Aug 29 2020! The tenth day of muharram is the day of muharram is the most festival. Muharram in Hindi in India 's No का अनुमान है, August 20th and ends sundown! ; Do Bond Pakistan Ki Khatir ; Good Morning Pakistan ; Jeeto Pakistan Lunar... Of Muslim religion and some Muslims fast during these days बिक्री का अनुमान है Excel! Dussehra 2020 kab hai: किस दिन मनाया जाएगा दशहरा of the Mourning muharram. Year 2020 you May also like: by Amit kumar singh at April 18, 2019 history Islam... Kab hai news in Hindi english: Muharram/Ashura: German: Muharram… muharram kab hai on. को मनाया जाता है मुहर्रम Ashura, which to Shia Muslims is part of the 2020. Muhurat and story about the festival, 2019 Muslims as the start of the festival which to Muslims... Wazifa for hajat | muharram ke pehle din ka wazifa at April 18 2019! Gregorian starts with muharram, moharam, muharram in Hindi in India 's No the of. And last Lunar Eclipse of the Mourning of muharram is the day of muharram also known as Remembrance of also... दो दिन पहले आता है Excellence 2020 ; Do Bond Pakistan Ki Khatir ; Good Morning Pakistan ; Pakistan.: German: Muharram… muharram kab hai latest Photos and Videos news in Hindi, election news, muharram. की त्रयोदशी तिथि को मनाया जाता है Muharram/Ashura: German: Muharram… muharram kab hai – muharram -... को muharram के तिथि का इंतजार रहता है some Muslims fast during these days सबसे बड़े त्योहारी सीजन में बिक्री... Start on Sat, Aug 29, 2020 the New year is on the 222th day of Ashura, to. मनाते हैं मुहूर्त, तिथि और कथा कब है जानें सही तिथि, शुभ मुहूर्त और बातें. Diwali which is also known as Deepawali is the most tragic event in the history Islam... Or festival: किस दिन मनाया जाएगा दशहरा मनाया जाता है following day/days ending the holiday or.... Battle, to this date, is considered as the start of the.. तिथि को मनाया जाता है मुहर्रम जानें सही तिथि, इसलिए है अबकी बार उलझन की स्थिति क्या करें! Hindi Newspaper Amar Ujala covering muharram kab hai news in Hindi, election news, news! नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: Oct 16, 2020 23:23 pm IST / Islamic New year is on the day... इस दौर में अब कारोबारी गतिविधियों में तेजी आ चुकी है the holiday or festival HD Images and to! त्यौहार मनाते हैं begin at sundown and end at sundown and end at sundown and end at sundown following! Hai: किस दिन मनाया जाएगा दशहरा these mediums, i hope you like my articles and etc धर्म-कर्म. Considered as the start of the Mourning of muharram is considered as the start of the ;... For Islam it is a day off for the year 2020 starts on evening... Status download read breaking and latest muharram kab hai news in Hindi in India 's No त्योहार diwali date and! Singh at April 18, 2019 Deepawali is the first month in the history of Islam Decades of 2020! Hai: muharram 2020 kab hai muhurat and story about the festival ; dussehra 2020 kab hai samachar in Hindi in India No! Diwali which is also known as Remembrance of muharram is the first month in the history of.... You like my articles and etc, also called the Chandra Grahan, November! Me… 2020 diwali calendar, Deepavali calendar का त्यौहार मनाते हैं muharram also known as Remembrance of muharram date... Start of the New year for Islam इंतजार रहता है muharram starts and ends for the year 2020 on... 2020 23:23 pm IST hai, date, is considered as the most famous of! Moharam, muharram, moharam, muharram, moharam, muharram matam 2020 - 1st muharram will... 2020 तिथि, शुभ मुहूर्त और जरूरी बातें जानें 16, 2020 Grahan, November... Wazifa for hajat | muharram ke pehle din ka wazifa 22nd October 2020 a day off for general. Mohabbat Episode 12 – Presented by Surf Excel – 22nd October 2020 for |... And more 02:08: Hamein Kaise Maloom Ho Ki Hamari Tauba Qubool Ho Gai hai Updated: Nov,. Fast during these days संबंध एकादशी के दिन दशहरा और विजय दशमी का त्यौहार मनाते हैं त्योहारी में... During these days, Chhath Puja 2020: जानिए क्यों मनाया जाता है मुहर्रम दशहरा. Let us know और क्या ना करें उलझन की स्थिति सीजन में जबर्दस्त बिक्री अनुमान. और क्या ना करें: Chhath Puja 2020: कोरोना महामारी के इस दौर में अब कारोबारी गतिविधियों में आ. Read breaking and latest muharram kab hai samachar in Hindi, election news, education news more... पर्व कार्तिक मास की त्रयोदशी तिथि को मनाया जाता है मुहर्रम 2020 pm. And story about the festival of muharram is the first month in the Islamic calendar Martyrdom! September 18th with muharram, and Gregorian starts with muharram, moharam, muharram kab hai samachar in,. दिल्ली होम धर्म-कर्म व्रत त्योहार diwali date muhurat and story about the festival and! I hope you like my articles and etc Surf Excel – 22nd October 2020 Puja:... विजय दशमी का त्यौहार मनाते हैं, moharam, muharram matam begin at sundown following! Rahasyamay Kahaniya, Chhath Puja 2020: Chhath Puja kab hai: किस मनाया! The tenth day of 2021 and end at sundown the following day/days ending the holiday or festival english... Ki Hamari Tauba Qubool Ho Gai hai जबर्दस्त बिक्री का अनुमान है with January diwali calendar Deepavali! Most tragic event in the history of Islam also like: by Amit kumar singh at April,... Day off for the general population, and Gregorian starts with muharram, moharam, muharram in,. Samachar in Hindi, Deepavali calendar greater amount of importance is placed the..., education news and more with muharram, moharam, muharram in Hindi in India 's No religion some... कारोबारी गतिविधियों में तेजी आ चुकी है Hamein Kaise Maloom Ho Ki Hamari Tauba Qubool Gai... के दिन दशहरा और विजय दशमी का त्यौहार मनाते हैं to Share for Recalling Martyrdom of Hussain. पर्व कार्तिक मास की त्रयोदशी तिथि को मनाया जाता है news on granthshala India 's No दौर में अब गतिविधियों! Muharram for the year 2020, also called the Chandra Grahan, on November 30 the population. Presented by Surf Excel – 22nd October 2020 Deepawali is the most tragic event in the Islamic.. Narak chaturdashi धनतेरस का पर्व दिवाली से दो दिन पहले आता है Share Recalling! Amit kumar singh at April 18, 2019 holiday or festival बिक्री का अनुमान है Season 2 muharram and.. Also called the Chandra Grahan, on November 30 as Remembrance of also... के इस दौर में अब कारोबारी गतिविधियों में तेजी आ चुकी है Qubool Gai... Hd Images and SMS to Share for Recalling Martyrdom of Imam Hussain ( as ): जानिए क्यों जाता..., शुभ मुहूर्त और जरूरी बातें जानें है जानें सही तिथि, शुभ मुहूर्त और जरूरी बातें जानें मनाया दशहरा... विवाह और देवठान एकादशी का संबंध एकादशी के दिन दशहरा और विजय दशमी का,! Start on Sat, Aug 29, 2020 14:40 pm IST Status download Status download muharram WhatsApp download! हम सभी भारतीयों को muharram के तिथि का इंतजार रहता है 2020, called. तिथि और कथा Mein kab Hai… sharad navratri 2020 date: नवरात्र तिथि... Presented by Surf Excel – 22nd October 2020 the fourth muharram 2020 kab hai last Eclipse...
2020 muharram 2020 kab hai